| प्रतिक्रिया |

राष्ट्रीय हिमालयी अध्ययन मिशन (एन.एम.एच.एस)

क्रियांन्वयन- पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय भारत सरकार
नोडल एवं सेवा केन्द्र- गोविन्द बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान

  • Beautiful Design

    NMHS

  • Stable Feature Rich Core

    NMHS

  • Cost Effective Solution

    NMHS

  • kktest 2.5 & 3.0 supports

    NMHS

  • Rich SEO & Accessibility

    NMHS

ताजा अपडेट: राष्ट्रीय हिमालयी अध्ययन मिशन जो, पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा 2015-16 से प्रारम्भ किया गया। इस संदर्भ में गोविन्द बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण एवं सतत् विकास संस्थान को भारतीय हिमालयी राज्यों के लिए नोडल संस्थान के रुप में नामित किया जाता है।
एन.एम.एच.एस अवलोकन

राष्ट्रीय हिमालयी अध्ययन मिशन का मुख्य उद्देश्य भारतीय हिमालयी राज्यों की पारिस्थितिकीय एवं प्राकृतिक सांस्कृतिक सामाजिक और आर्थिक पूंजी संसाधनो में वृद्धि करने के लिए नवाचारी अध्ययनों को क्रियांन्वित करना है।




श्री अनिल माधव दवे

माननीय मंत्री राज्य (स्वतंत्र प्रभार)
पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन

संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा घोषित सतत्

विकास के लक्ष्य

संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा 17 सतत् विकास के लक्ष्यों के अंतर्गत एक अभियान चलाया गया जिसका उद्देश्य हमारे विश्व का बदलावः वर्ष 2030 कार्यसूची के लिए सतत् विकास है... (ref. http://sustainabledevelopment.un.org)...

और पढ़ें>>

फ़ॉर्म और प्रारूप

अन्य राष्ट्रीय मिशन

अन्य

विस्तृत विषयक वर्ग (बीटीजी)
बीटीजी 1: भूमि एव जल संसाधनों का सतत् प्रबंधन
बीटीजी 2: पर्यावरणीय आंकलन एवं प्रबंधन
बीटीजी 3: जैव विविधता संरक्षण एवं सतत् उपयोग
बीटीजी 4: टिकाऊ ढांचागत संरचना विकास एवं ऊर्जा सुरक्षा
बीटीजी 5: पूरक आजिविका के विकल्प
बीटीजी 6: जागरुकता एवं क्षमता विकास
एन्विस केंद्र एन.एम.एस.एच.ई एनडीएमए द्वार एनबीए द्वार दर्पण
वेबसाइट हिट: http://www.hitwebcounter.com/
अद्वितीय आगंतुक: http://www.hitwebcounter.com/